NTPC क्या है - NTPC Full Form क्या है सभी जानकारी हिंदी में?

हेलो दोस्तो आप सभी का स्वागत करते है आपके अपने ब्लॉग hytechsin.com में दोस्तो हम आज आप सभी के लिए NTPC से रिलेटेड प्रश्नो के उत्तर बतायेगे आशा करते है कि आपको NTPC से रिलेटेड सभी प्रश्नो के उत्तर यहाँ पर आपको मिल जाएगा बस आप सभी को इस आर्टिकल को पूरा ध्यान से पढ़ना है।

राष्टीय   तापविधुत  निगम  लिमिटेड
NTPC full form in hindi, ntpc क्या है ,ntpc का पूरा नाम क्या है इसका हिंदी में क्या अर्थ है, 
Ntpc क्या होता है, ये कंपनी कब आयी थी और इसका स्थापना कब हुआ था आपको इस पोस्ट में इसके बारे में सभी जानकारी दी जाएगी,

NTPC full form in hindi ?

NTPC : Nation Thermal Power Corporation , इसे हिंदी मे - राष्ट्रीय तापविधुत निगम लिमिटेड कहते है , यह एक भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी है, जो बिजली उत्पादन और संबंधित गतिविधियों में लगी हुई है, इस कंपनी ने वर्ष 2032 तक 1,28,000 मेगावाट की स्थपित विधुत क्षमता पैदा करने का लक्ष्य रखता है,

NTPC भारत की सबसे बड़ी विधुत उत्पादक कंपनी है इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है, यह सन 2016 में विश्व की 2000 कम्पनियो में से सबसे बडी कंपनियों में NTPC का 400 वा स्थान था। और 2010 में NTPC भारत की एक महारत्न कंपनी  बन गई है,

NTPC का कुल संस्थापित क्षमता 50,750 मेगावाट है,जिसमे पूरे भारत  स्थिर मे 19 कोयला आधारित और 7 गैस  स्टेशन शामिल है, संयुक्त उद्यम के 9 स्टेशन कोयला आधारित है, और 11 अक्षय ऊर्जा परियोजनाएं भी है,

NTPC को नेशनल स्टाक एक्सचेंज ( NSE ) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( BSE ) में भी सूचीबद्ध  किया गया है, यह बिजली पैदा करने के अपने मूल संचालन के अलावा यह संक्रिय रूप से पावर टेंडिंग ,उपकरण निमार्ण कोयला, खनन , नवीकरणीय , ऊर्जा सौत होंगे। वर्ष 2032 तक गैस ईंधन आधारित उत्पादन क्षमता NTPC की पोर्टफोलियो का लगभग 30% होगा।

इस कंपनी में कुल राष्ट्रीय क्षमता की 17.73% हिस्सेदार है, यह एक उच्च दक्षता पर अपना ध्यान केंद्रीय करने के कारण कुछ विधुत उत्पादन में  25.91% का योगदान दिया है,

NTPC का मुख्य काम तापविधुत  संयंत्रों का पौधोगिकी निर्माण संचालन है, यह भारत एवं विदेश की विधुत उत्पादक कम्पनियो ने एक लम्बी दूरी तय की है,

NTPC संयंत्र =

कोयला आधारित -

15 कोयला आधारित विधुत संयंत्रों के साथ NTPC देश की सबसे बड़ी तापीय विधुत उत्पादन कम्पनी है, इस कंपनी में कोयला आधारित क्षमता 25,875 मेगावाट है।

स्थान                 राज्य ।              मेगावाट
1. सिंगरौली ।         मध्य प्रदेश ।         2000
2. कोरबा ।            छत्तीसगढ़ ।           2600
3. रिहंद।               उत्तर प्रदेश।             2000        
4. विंध्याचल।        मध्य प्रदेश।             4760
5. एन टी पी सी ।    उत्तर प्रदेश।            1820
6. ऊंचाहार।            उत्तर प्रदेश।            1050       
7. तालचर थर्मल ।     उडीसा।                  460             
8. टांडा।                  उत्तर प्रदेश।             440
9. बरदपुर।              दिल्ली।                    805

गैस / तरल ईंधन आधारित ।

NTPC की संयुक्त गैस आधारित कमीशन क्षमता 3955 मेगावाट है?

★  स्थान।                    राज्य।               मेगावाट
1. अंता।                   राजस्थान।           413
2. औरेया ।               उत्तर प्रदेश।           652
3. कवास ।                  गुजरात।              815
4. दादरी                    उत्तर प्रदेश।            817
5. झानोर गांधार।       गुजरात।                 648
6. राजीव गांधी           केरल।                     350
    CCPP कायमकुलं
7. कारीदबाद।             हरियाणा।               430

हाइड्रो आधारित = 

NTPC ने एक संतुलित विभाग के लिए हाइड्रो आधारित विधुत परियोजना के विकास पर लम्बे समय के स्थिरता पर जोर दिया गया है,इस क्षेत्र में पहला योगदान कोलडैम  हाइड्रो आधारित विधुत परियोजना पर हिमाचल प्रदेश के विलासपुर जिले में सतलुज नदी पर निवेश करके दिया गया था। हाइड्रो आधारित विधुत परियोजना तपोवन विष्णुगाड़ है, सभी परियोजना की निर्माणधिन गतिविधियों पुरे जोरो पर है।

★  स्थान                      राज्य।                   मेगावाट
1. कोलडैम।            हिमाचल प्रदेश।           800
2. तपोवन विष्णुगाड़    उत्तराखंड।             520
3. सिंगरौली सी डव्लू।    उत्तर प्रदेश।           8
    निर्वहम   


Histry ( इतिहास )=

★ 8 नवम्बर सन 1985 को NTPC का निगमीकरण हुआ था
★ 1986 को कंपनी की प्राधिकृत शेयर पुजी  125 करोड थी।
★ सन 1987 में कोरबा और रामागुडम परियोजनाओं का कियान्वयन हुआ था।
★ 1970 में प्राधिकृत शेयर पुजी 300 करोड़ से बढकर 700 करोड हो गया था।
★ 1972  विधुत प्रबन्धक संस्थान, दिल्ली नामक शिक्षा केन्द्र की शुरुआत हुई।
★ सन 1974 में संस्थापित क्षमता 15000 मेगावाट से अधिक हो गई है।
★ 1997 के नवरत्न सार्वजनिक उपक्रमों में से एक उपक्रम घोषित हुआ ।
★ सन 2000 में हिमाचल प्रदेश में 400 मेगावाट की क्षमता पहली जल विद्युत परियोजना का निर्माण शुरू किया ।
★ 2002 में संस्थापित क्षमता 20000 मेगावाट से अधिक है।
★ 2004 में NTPC एक सूचीबद्ध कंपनी बना।
★ 2007 में विंध्याचल 4760 मेगावाट की संस्थापित क्षमता के साथ देश मे सबसे बडा विधुत यंत्र बना।

सहायक कम्पनीया =

★ एन ई एस सी एल
★ एन वी वी एन
★ एन एच एल
★ पी पी डी सी एल

1). 21 अगस्त 2002 को इस कंपनी का शुरुआत किया व्य था।यह एक विधुत ऊर्जा के वितरण आपूर्ति के व्यापार में क़दम रखने के उद्देश्य से गठित NTPC लिमिटेड के स्वामित्व वाली एक सहायक कंपनी है।
2). 1 नवम्बर 2002 को यह कंपनी NTPC लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व सहायक  कंपनी के रुप गठित किया गया ।इस कंपनी का उद्देश्य विधुत पावर  की बिक्री और खरीद करना है और इस प्रकार बिजली की लागत में कमी लाना है।
3). इस कंपनी का निर्माण 12 दिसम्बर 2002 को NTPC लिमिटेड की स्वामित्व वाली एक सहायक कंपनी के रूप में 250 मेगावाट तक कि छोटी  मध्यम जल विधुत परियोजनाओं के विकास के उद्देश्य के लिए किया गया था।
4). NTPC लिमिटेड गुजरात पावर कॉपरेशन लिमिटेड ( जी पी सी एल )  गुजरात विधुत मंडल ( जी ई बी ) के बीच वर्ष 2004 में 50: 50 इक्विटी भागीदार के साथ।
NTPC और जी पी सी एल के बीच एक नई संयुक्त उद्यम कंपनी के निर्माण दारा गुजरात के पिपावत में 1000 मेगावाट विधुत परियोजना के विकास हेतु समझोता पर हस्तक्षेप किये गए थे। गुजरात सरकार
निर्णय का पालन करते हुए NTPC लिमिटेड ने स्वयं को इस कपनी से अलग कर लिया है अब पी पी डी सी एल भी इसका समापन कर रही है।

कांटी बिजली उत्पादन निगम लिमिटेड ( पुर्व वैशाली पावर जनरेटिंग कंपनी लिमिटेड )

कांटी थर्मल पावर स्टेशन  (2*110 मेगावाट ) को लेने के लिए एक सहायक कंपनी वैशाली पावर जनरेटिंग कंपनी लिमिटेड के निगमन 6 सितम्बर 2006 को NTPC को 51 %  इक्विटी के साथ किया गया था। ओर बचे इक्विटी का योगदान बिहार विधुत राज्य ने दिया । और संयुक्त इकाई को चलाने के लिए गठित किया गया है। दूसरी इकाई को 17 अक्टूबर 2007 को चार साल के बाद पुनः सक्रिय बनाया गया है।
इस कंपनी को नया नाम कांटी बिजली उत्पादन निगम लिमिटेड दिया गया है।

भारतीय रेल बिजली कंपनी लिमिटेड  ( बी आर बी सी एल )?

भारतीय रेल बिजली कंपनी लिमिटेड के नाम से NTPC लिमिटेड एक सहायक कंपनी का निगम 22 नवम्बर 2007 को NTPC रेल मंत्रालय, भारत सरकार की और से 74:26 इक्विटी के साथ नबी नगर ,बिहार में स्थित कोयला आधारित विधुत सयुक्त की 250 मेगावाट की 4 इकाईयो में गठन किया गया था।इस परियोजना के निवेश अनुमोदन जनवरी 2008 में प्रदान किया गया था।
निस्कर्ष :- 
हेल्लो फ्रेंडस में उम्मीद करता हु की आपको ये पोस्ट पसंद आया हो, NTPC एक लिमिटेड कंपनी है इसमें विधुत का उत्पादन किया जाता है , और NTPC से जितनी जुड़ी जानकारी है आपको इस पोस्ट में मैने बता दिया है मै आशा करता हु की आपको  आपके सभी प्रश्नों के उत्तर इस पोस्ट में मिल  गये होंगे।

Post a Comment

0 Comments