Computer Full Form in Hindi,

हेलो दोस्तो आप सभी का स्वागत है हमारे अपने blog hytechsin.com में जी है दोस्तो तो आज हम आप सभी को इस पोस्ट में बतायेगे computer जुड़ी सभी जानकारी के बारे में तो दोस्तो आप सभी को कंप्यूटर की जानकारी चाहिए तो आप सभी इस आर्टिकल को पूरा पढ़ना हैं।

हेलो फ्रेंड हमारा आज का हमारा आज का टॉपिक है कंप्यूटर कंप्यूटर क्या है कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या होता है यह कितने प्रकार के होते हैं कंप्यूटर में कितने पार्ट होते हैं इत्यादि हम आपको आज बताएंगे कंप्यूटर से जुड़ी वह सारी सारी जानकारियां कंप्यूटर के जन्मदाता कौन है कंप्यूटर कब बना था इत्यादि।

आप सब भी बहुत अच्छे से  जानते हैं कि कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है इसमें किसी भी डाटा को प्राप्त करने तथा संग्रहित करने का क्षमता  होता है कंप्यूटर के पांच पीढ़ी होते हैं हम आपको इन सारी पीढ़ी ओ  के बारे में एक एक करके अच्छी से सारी जानकारी बताएंगे आप सभी जानते हैं कि इंटरनेट का समय है अभी के टाइम में ज्यादातर स्मार्टफोन लैपटॉप टेबलेट कंप्यूटर इत्यादि इन सारी चीजों का उपयोग किया जाता है कंप्यूटर से जुड़ी हुई जानकारी प्राप्त के लिए मेरे इस पोस्ट को लास्ट तक पढ़े।

कंप्यूटर क्या है?

Computer एक स्वचालित  तथा निर्देशों के अनुसार कार्य करने वाली इलेक्ट्रॉनिक Devaice है जिसमें किसी भी data को प्राप्त ( Resive ) करने , संग्रहित ( Store )   तथा Prosece  करने की क्षमता होता है।

Computer  अंग्रेजी के 8 Letter  शब्द से मिलकर बना है इन सबका अलग-अलग मीनिंग होता है जैसे-

★ C -  commonly
★ O - Opereted
★ M - Machice
★ P - Partiwcular
★ U - Used For
★ T - Technical
★ E - Education
★ R - & Research

Computer शब्द की उत्पत्ति लेटिंग भाषा के ?computare शब्द से हु है। जिसका हिंदी अर्थ होता है " गणना " परंतु कुछ Expert यह मानते है कि Computer की  उत्पत्ति Compute से हुई है जिसका अर्थ होता है " गणना करने वाला " इस प्रकार Computer किसी भी डाटा या संख्या की गणना करने में मनुष्य की सहायता करती है।

 कंप्यूटर का हिंदी में क्या अर्थ हैं?

कंप्यूटर का हिंदी में अर्थ होता है संगणक है परंतु बाद में धीरे-धीरे या कंप्यूटर के नाम से प्रचलित हो गया कंप्यूटर के जन्म दाता चार्ल्स बैबेज जी है।


कंप्यूटर की परिभाषा क्या है?

 Computer की परिभाषा Definitio of computer in hindi होता  है कंप्यूटर एक स्वचालित इलेक्ट्रॉनिक मशीन होता है इसे अनेक प्रकार के गणना के लिए प्रयोग किया जाता है।

 कंप्यूटर के जनक कौन थे?

कंप्यूटर का आविष्कार अंग्रेजी  गणितज्ञ चार्ल्स बैबेज ने किया था उनका जन्म  26 नवंबर 1791 में हुआ था 1837 में एनालिटिकल इंजन का आविष्कार किया था उन्होंने 1822 में पहला मैकेनिकल कंप्यूटर बनाया था उसे हम डिफरेंस  इंजन के नाम से जानते हैं उसी के आधार पर आज के सभी कंप्यूटर काम कर रहे हैं चार्ल्स बेबर को आधुनिक कंप्यूटर का  father भी कहा जाता है चार्ल्स बैबेज को math बहुत पसंद था इसलिए उन्होंने एक math को हल करने के लिए बड़ी कंप्यूटर मशीन बनाई थी चार्ल्स बैबेज ने 1837 में एक कंप्यूटर बनाने के बारे में सोचे थे लेकिन पैसे ना होने के कारण हो नहीं बना सके।

 कंप्यूटर के विभिन्न प्रकार क्या हैं?

मुख्य रूप से कंप्यूटर तीन प्रकार के होते हैं?
1). कार्यप्रणाली के आधार पर ( Based on
       Work )
2).  विदेशी के आधार पर (  Based  on
        Purposa
3).  आकार के आधार पर ( Based on size )

 कंप्यूटर के प्रकार?
1. एनालांग
2.  डिजिटल
3.  हाइब्रिड
 कंप्यूटर के आकार
1. सुपर
2. मेलफेम
3. माइक्रो
4. मिनी
 कंप्यूटर के उद्देश्य
1.  सामान्य
2. विशेष

कार्य प्रणाली के आधार के आधार पर?
★  एनालॉग कंप्यूटर - एनालांग कंप्यूटर ऐसा  कंप्यूटर सिस्टम होता है जो तापमान , वोल्टेज, गति , दबाव, इत्यादि जैसी मात्राओं  को मापता है एनालॉग कंप्यूटर सिर्फ भौतिक मात्राओं भौतिक मात्राओं को मापता है है यह लगातार बदलता रहता है एनालॉग  कंप्यूटर के उदाहरण में वोल्ट मीटर और मीटर और अमीटर भी शामिल होता है।

★ डिजिटल कंप्यूटर - डिजिटल कंप्यूटर एक ऐसा कंप्यूटर सिस्टम है जो एनालॉग कंप्यूटर  के विपरीत बाइनरी नंबर सिस्टम का उपयोग करता है अगर दूसरे शब्दों में कहा जाए तो डिजिटल कंप्यूटर में सभी डाटा को जीरो से लेकर 1 तक तक के रूप में प्रोसेस किया जाता है यह कंप्यूटर के सबसे ज्यादा इस्तेमाल  किए जाने वाले प्रकार हैं प्रकार हैं आज के समय में डिजिटल कंप्यूटर में एनालॉग कंप्यूटर की जगह ले ली है कंप्यूटर की जगह ले ली है की जगह ले ली है डिजिटल कंप्यूटर के उदाहरण में पर्सनल कंप्यूटर टेबलेट वर्क स्टेशन डेस्कटॉप इत्यादि हैं।

★ हाइब्रिड कंप्यूटर - हाइब्रिड कंप्यूटर के नाम से पता चल जाता है एनालॉग कंप्यूटर के साथ शादी डिजिटल कंप्यूटर का ही काम करता है हाइब्रिड कंप्यूटर में एनालॉग और डिजिटल कंप्यूटर दोनों की कार्य क्षमता होती है होती है होती है हाइब्रिड कंप्यूटर का उपयोग वैज्ञानिक गणना  में  बडे  उधोग में रक्षा प्रणालियों में किया जाता है।

उद्देश्यों के आधार पर?

★ सामान्य कंप्यूटर - सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर का उपयोग करके दैनिक जीवन के विभिन्न कार्यों को पूरा किया को पूरा किया जाता है उदाहरण के लिए लेखन और संपादन इंटरनेट, ब्राउज़िंग, मनोरंजन, और गेम खेलने, इत्यादि नोटबुक स्मार्टफोन टेबलेट इत्यादि यह सभी सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर की उदाहरण है उदाहरण है।

★ विशेष कंप्यूटर - विशेष उद्देश्य कंप्यूटर का एक विशेष समस्या को हल करने के लिए डिजाइन किए जाते हैं उन्हें कंप्यूटर के रूप में जाना जाता है कंप्यूटर का उपयोग किसी महत्वपूर्ण कार्य को करने के लिए किया जाता है इस तरह के कंप्यूटर सिस्टम के उदाहरण ट्रैफिक सिस्टम के उदाहरण ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम ,मौसम विज्ञान, अंतरिक्ष विज्ञान ऑटोमेटिक उद्योग में शामिल है।

आकार के आधार पर?

★ सुपर कंप्यूटर - सुपर कंप्यूटर दुनिया का सबसे  तेज कंप्यूटर माना जाता है है यह कंप्यूटर सामान्य तुलना में बहुत तेजी से डाटा की प्रोसेसिंग करता है सुपर कंप्यूटर बहुत महंगा होता है इसकी विशेषता अनुप्रयोगों के लिए उपयोग किया जाता है इसका उपयोग किसी भी महत्वपूर्ण दाता को गणित व व समस्याओं को हल करने के लिए किया जाता है चीन का Tianhe 2 दुनिया का सबसे तेज कंप्यूटर है।

★ मेनफ्रेम कंप्यूटर - मेनफ्रेम कंप्यूटर एक प्रकार का कंप्यूटर होता है इसका उपयोग बड़े-बड़े संगठनों द्वारा मुख्य रूप से अनुप्रयोग के लिए किया जाता है यार ज्यादातर अपने बड़े आकाश भंडारण क्षमता तेज डाटा प्रोसेसिंग और विश्वसनीय के लिए जाना चाहता है एक मेनफ्रेम कंप्यूटर जिसे  Big Iron  के नाम से जाना जाता है यह मुख्य रूप से सरकार अथवा गैर सरकार संगठनों द्वारा उपयोग किया जाता है।

★ माइक्रो कंप्यूटर - माइक्रो कंप्यूटर एक एक कंप्यूटर होता है जो अपने सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट के रूप में एक माइक्रो प्रोसेसर का उपयोग करता है माइक्रो कंप्यूटर एक छोटा सा सा एक छोटा सा सा अपेक्षाकृत सस्ता और आकर्षक कंप्यूटर होता है माइक्रो कंप्यूटर मेनफ्रेम कंप्यूटर और मिनी कंप्यूटर की तुलना में कंप्यूटर की तुलना में आकार में छोटा होता है जैसे आईबीएस पिसी  एप्पल आदि।

★ मिनी कंप्यूटर - मिनी कंप्यूटर एक तरह का कंप्यूटर है जिसके अंदर बड़े कंप्यूटर के अधिकांश विशेषताएं और क्षमताएं होती है लेकिन या आकार में में छोटा होता है मिनी कंप्यूटर का आकार माइक्रो कंप्यूटर और मेनफ्रेम कंप्यूटर और मेनफ्रेम कंप्यूटर कंप्यूटर के बीच होता है मैंने कंप्यूटर का उपयोग वैज्ञानिक कार्य और व्यवहार के लेनदेन के लेनदेन में किया जाता है फाइल हैंडलिंग और डेटाबेस प्रोसेसिंग के लिए भी किया जाता है मिनी कंप्यूटर मल्टी यूजर मल्टी यूजर यूजर का काम करता है इस कंप्यूटर के के साथ एक से अधिक लोग एक से अधिक लोग काम कर सकते हैं मिनी कंप्यूटर का उदाहरण HP 9000, RISC 6000, AS 400 आदि होता है।

कंप्यूटर की विभिन्न पीढ़ी?

1). प्रथम पीढ़ी  - ( 1939-1956 ) कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी ने वेक्यूम ट्यूब ट्यूब का निर्माण किया गया था इसका आकार बहुत बड़ा होता है उसको एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में आज सुविधाओं का का सामना करना पड़ता था या कंप्यूटर बहुत ही गर्म हो जाता था।

2). दूसरी पीढ़ी - ( 1956-1963 ) कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी में ट्रांजिस्टर तकनीकी का इस्तेमाल किया जाता है जो कंप्यूटर का आकार छोटा और परफॉर्मेंस को तेज कर दिया था।

3). तीसरी पीढ़ी - ( 1963-1971 ) कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी में इंटीग्रेटेड सर्किट तकनीकी का इस्तेमाल किया गया था यह पिछले पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में आधुनिक विश्वसनीय है।

4). चौथी पीढ़ी - ( 1972-2010 ) चौथी पीढ़ी के कंप्यूटरों में माइक्रो प्रोसेस तकनीकी का उपयोग किया करते थे या कंप्यूटर पहले दूसरे और तीसरे पीढ़ी की तुलना में अधिक विश्वसनीय तेज और आकार के छोटे होते थे इसे आसानी से उठाकर एक स्थान से दूसरे स्थान पर रख सकते हैं।

5). पांचवी पीढ़ी - ( 2010 सर अब तक ) पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को उपयोग किया जाता है इस कंप्यूटर में प्रोधोगिकी सर्वोपरि बना है इन सभी कंप्यूटरों में कृत्रिम बुद्धिमत्ता होती है इसका उपयोग करके अनेक समस्याओं का समाधान कर सकते हैं।

कंप्यूटर का उपयोग कहा कहा ज्यादा होता हैं?

★ शिक्षा ( Education ): कंप्यूटर ने पूरी दुनिया की शिक्षा प्रणाली की पूरी तरह से अलग स्तर पर ले गया है पारंपरिक क्लासरूम कंप्यूटर के आगमन के साथ आधुनिक बन गया है कंप्यूटर की मदद से छात्रों के पाठ्यक्रम को समझाना आसान हो गया है डिजिटल लाइब्रेरी ने छात्रों को एक क्लिक मे सभी किताबों उपलब्ध ब्लैक बोर्ड शिक्षण की तुलना में डिजिटल शिक्षण शिक्षण का अनुभव लगता है कंप्यूटर ने केवल पारंपरिक शिक्षा प्रणालियों प्रणालियों को मजबूत करता है बल्कि उनकी शिक्षा पाठ्यक्रम और डिग्री प्रदान करने का एक नया तरीका भी है कंप्यूटर के द्वारा कोई भी एग्जामिनेशन फॉर्म ऑनलाइन भर सकते हैं एजुकेशन के लिए कंप्यूटर अधिक महत्वपूर्ण हो गया है कंप्यूटर का उपयोग स्कूल कॉलेज यूनिवर्सिटी यूनिवर्सिटी इत्यादि हर जगह पर किया जा रहा है।

★ वैज्ञानिक अनुसंधान ( Scientific Research ) अनुसंधान ( Scientific Research ) अनुसंधान ( Scientific Research ): विज्ञान के कई जटिल राज्यों को समझाने के लिए कंप्यूटर की मदद ली जाती है इसमें बड़ी तीव्रता के साथ के साथ गणना करने की क्षमता होती है वैज्ञानिक अनुसंधान में कंप्यूटरों का विशेष उपयोग किया जाता है।

★ बैंक ( Bank ): बैंकिंग में कंप्यूटर का उपयोग क्रांति ला दी है इसका उपयोग ग्राहकों के साथ लेनदेन पासबुक अपडेट करना अकाउंट खुलवाना एटीएम कार्ड के लिए अप्लाई करना इत्यादि इन सभी कार्यों के लिए कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है कंप्यूटर हर मार्ग में अति आवश्यक होता है।

★ अस्पताल ( Hospital ): अस्पतालों में कंप्यूटर का अत्यधिक महत्वपूर्ण भूमिका है अस्पतालों में इसके विभिन्न कार्य होते हैं जैसे कि लगाओ वितरण के स्टाफ का रिकॉर्ड रख सकते हैं कंप्यूटर के द्वारा ही मरीजों की बीमारियों का पता लगाया जाता है इसके जरिए अल्ट्रासाउंड सिटी स्कैन आईसीजी डिजिटल एक्सरे रोगियों के मेडिकल रिकॉर्ड संग्रहीत किया जाता किया जाता है हम कंप्यूटर के जरिए ही रोगियों की उपचारों के बारे में तथ्यों को संग्रहित कर सकते हैं क्योंकि जब हम उनके पिछले उपचार के बारे में दवाओं का परिमाण कर सके। ऐसा सिस्टम डॉक्टरों के लिए बहुत प्रभावित और सहायक होते हैं कंप्यूटर के जरिए ही विभिन्न प्रकार के रोगों के बारे में जानकारी प्राप्त करना बहुत आसान हो गया है कंप्यूटरों का उपयोग प्रयोगशाला में रक्त मूत्र बलगम आदि के परिजनों के लिए किया जाता है।

★ संचार ( Communication ): कंप्यूटर के उपयोग के बिना आधुनिक संचार संभव नहीं है टेलीफोन और इंटरनेट में संचार के लिए कंप्यूटर अत्यधिक महत्वपूर्ण है इंटरनेट और टेलीफोन ने संचार क्रांति को जन्म दिया है इसमें केवल ताल शामिल होते हैं संचार प्रणाली में विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर और कंप्यूटरीकृत उपकरणों का प्रयोग किया जाता है।

★ मनोरंजन ( Entertainment ): आजकल डिजिटल युग में लगभग हर क्षेत्र में कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है  कंप्यूटर को मनोरंजन के तौर पर गेम संगीत मूवी इत्यादि के लिए प्रयोग किया जाता है मल्टीमीडिया के उपयोग में कंप्यूटर को मनोरंजन का सबसे अच्छा साधन माना जाता है कंप्यूटर का उपयोग मूवी देखना है गाना डाउनलोड करना वीडियो गेम खेलना है इत्यादि के लिए उपयोग किया जाता है।

★ प्रशासन ( Administration ): सरकारी कार्यालयों में कंप्यूटर का व्यापारिक रूप से उपयोग किया जाता है सरकारी कर्मचारियों के लिए अनेक प्रकार का रिपोर्ट तैयार करना और डाटा को सबमिट करके रखने में अत्यधिक सहायक होती है सरकारी कर्मचारियों को कई प्रकार की रिपोर्ट तैयार करनी होती है जो कि सरकार द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में प्रशासनिक कार्य कंप्यूटर द्वारा ही किया जाता है डिजिटल इंडिया के माध्यम से प्रशासन ने सभी सरकारी विभागों की डिजिटल रूप देखकर इसकी गति बढ़ा दी गई है।

कंप्यूटर का इतिहास क्या हैं?

पहले गणना के लिए प्रयोग में लायी जाने वाली डिवाइसों में मैकेनिकल डिवाइस थी अबेकस को पहला कंप्यूटर कहा जाता है बाद में पास्कल, लारेंस ,जैकब , एटासाफबेरी आदि ने कई डिवाइस बनाई लेकिन लेकिन किसी भी डिवाइस में मेमोरी ना थी 17 वीं शताब्दी में चार्ल्स बैबेज ने एनालिटिकल और डिफरेंस मशीन का आविष्कार किया जिसमें मेमोरी डाली उस मशीन के आविष्कार से से ही आधुनिक युग की शुरुआत हुई बाद में सभी कंप्यूटर में मेमोरी सबसे पहले बड़ी विशेषता है इसी कारण चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर का पितामह कहा जाता है ENIAC  प्रथम इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर है यहीं से से इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का युग शुरू हो गया।

कंप्यूटर के कितने भाग होते है? 

कंप्यूटर सिस्टम कंपोनेंट में कई तरह के कंप्लेंट होते हैं एक कंप्यूटर को उसका कार्य करने में संभोग कार्य करने में संभोग करवाते हैं जो कुछ इस प्रकार है जैसे - कीबोर्ड ,माउंट ,मॉनिटर, रैम, हार्ड डिस्क ,स्पीकर और भी बहुत कुछ

पावर बटन- पावर स्विच  वो स्विच बटन होता है जिसे एक कंप्यूटर सिस्टम कंप्यूटर सिस्टम को चालू या बंद किया जाता है।
रीसेंट बटन- इस बटन की मदद से हम किसी भी कंप्यूटर सिस्टम को चालू हालत में अपनी जरूरत के हिसाब से उसे पुनः स्टार्ट रीस्टार्ट कर सकते हैं।

कीबोर्ड - कीबोर्ड इनपुट डिवाइस है इसके द्वारा प्रोग्राम एवं डाटा को को कंप्यूटर में इंटर किया जाता है यह टाइपराइटर के कीबोर्ड जैसा ही होता है अल्फाबेट नंबर स्पेशल किड्स फंक्शन होती है जब एक की दवाई जाती है तब एक इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल उत्पन्न उत्पन्न होता है जो कीबोर्ड इनकोडर के नाम की इलेक्ट्रॉनिक सर्किट द्वारा डिटेक्ट किया जाता है।

माउस - माउस कंप्यूटर की सबसे महत्वपूर्ण पाइटिंग डिवाइस है यह भी एक इनपुट डिवाइस है मास्को प्रयोग स्केचेज डायग्राम आदि ड्रा करने में टेक्स्ट को को सेलेक्ट करने इंस्ट्रक्शन देने आदि कार्य के लिए किया जाता है माउस प्रकार के होते हैं मैकेनिकल ऑप्टिकल माउस इसमें दो बटन होते हैं लेफ्ट और राइट बटन तीसरी बटन स्काल  बटन भी ऑप्टिकल माउस में होती है।

रैम - रैम एक प्राइमरी मेमोरी होता है जो एक जीप के रूप में एक स्लॉट की मदद से मदर बोर्ड से जुड़ा रहता है जो सिस्टम पर कार्य करने के लिए जरूरी मेमोरी उपलब्ध कराता है।
रोम - रूम कंप्यूटर सिस्टम में एक जीप के रूप में मदरबोर्ड से जुड़ा रहता है जो BIOS इनफॉरमेशन को संजो में रखता है कंप्यूटर सिस्टम के बूटिंग के दौरान उपयोग में लाया जाता है

मॉनिटर - यह एक फास्ट विजुअल आउटपुट डिवाइस है जिस पर आउटपुट को देखा जाता है यह टेक्नोलॉजी के अनुसार दो प्रकार के होते हैं
(1). सी.आर.टी. टेक्नोलॉजी इसमें  कैथोड रे ट्यूब  लगी होती है जो  इसमें कैथोड किरणें फलेरेसेन्स स्क्रीन पर गिरती है और डिफ्लेक्ट होकर पिक्चर बनाते हैं यह दो प्रकार के होते हैं
( क ) मोनोकोम - जो की ब्लैक एंड वाइट पिक्चर दिखाता है
( ख ) कलर - इसमें तीन प्रकार के फास्फोरस जो कि लाल हरा और नीला रंग होने के कारण कलर पिक्चर बनाता है

(2). एलसीडी टेक्नोलॉजी लिक्विड डिस्प्ले टेक्नोलॉजी लाइट को माड्यूलेट करके पिक्चर बनाती है थीन  फिल्म ट्रांजिस्टर मैट्रिक तो बनती है लेकिन मैट्रिक्स से लाइट नहीं निकलती है लेकिन लाइट एमिटिंग डायोड में लाइट यहीं से निकलती है पिक्चर क्वालिटी काफी अच्छी होती है

★ सीपीयू - प्रोसेसिंग डिवाइस चौथे जनरेशन के कंप्यूटर में प्रोसेसिंग डिवाइस के रूप में उपयोग किया जाता है इसमें लागू सर्किट लगे होते हैं एक कंपलीट साइकिल को काम करने के लिए मदरबोर्ड पर एक क्लास लगा होता है जो की फ्रीक्वेंसी को अकाउंट करता है डाटा इंस्ट्रक्शन इनपुट डिवाइस द्वारा प्रोसेसर की तरह प्रोसेसिंग के लिए जाता है और प्रोसेसर प्रोसेस करके इंफॉर्मेशन के रूप में आउटपुट डिवाइस पर रिजल्ट देता है यह पूरा कार्य एक साइकिल में होता है पूरी प्रोसेसिंग प्रोसेसर के अंदर होता है प्रोसेसर के 3 भाग होते हैं
1. अर्थमैटिक लॉजिक यूनिट
2. कंट्रोल यूनिट
3. मेमोरी यूनिट

1. अर्थमैटिक लॉजिक यूनिट - यह सीपीयू का मुख्य भाग होता है जो की तार्किक एवं अंकगणितीय कार्य को प्रोसेस करता है जो भी यूजर के द्वारा इनपुट दिया जाता है पर जरूरी ऑपरेशन कर चाहे वह गणितीय हो तार्किक हो मेमोरी यूनिट को भेज देता है वहां से यह कंट्रोल यूनिट की मदद से यूजर्स द्वारा निर्देशित आउटपुट मीडिया पर भेज दिया जाता है

2. कंट्रोल यूनिट - कंट्रोल यूनिट जो कि पूरे कंप्यूटर को कंट्रोल करता है या डाटा इंस्ट्रक्शन को एनालाइज करके इस प्रकार की डिवाइस गोप्रोसेसिंग के लिए या आउटपुट के लिए भेजना है यह सब कार्य यही करता है

3. मेमोरी यूनिट - मेमोरी यूनिट  इस भाग में कंट्रोल यूनिट द्वारा निर्देशित टास्क स्टार्ट होता है क्योंकि ए एल टीम को भेजा जा सके और यूअर से प्रोसेस होने के बाद आउटपुट सूचना को तब तक स्टोर करता है तब तक कंट्रोल यूनिट इसे उचित आउटपुट मीडिया पर भेजने का निर्देश ना दे इसे रजिस्टर भी कहा जाता है जोकि प्रोसेसिंग के समय डाटा इंफॉर्मेशन को अपने पास गोल्ड रखता है और जो प्रोसेसिंग के दूसरे स्टेट में प्रयोग होता है।

निस्कर्ष :- 
दोस्तो हमने आप सभी को कंप्यूटर से जुड़ी सभी जानकारी को आपको बताया दोस्तो अगर ये पोस्ट आप सभी को अछि लगी हो तो आप सभी लोग इस पोस्ट को अपने दोस्तो को ज्यादा से ज्यादा shear करे ताकि उन्हें भी जानकारी मिल सके।

Post a Comment

0 Comments