GSM और CDMA क्या है ? हिंदी में जानिए

हेलो फ्रेंड आप सभी का स्वागत है आपके अपने ब्लॉग hytechsin.com में फ्रेंड मैं आपको आज बताने वाला हूँ। GSM और CDMA में क्या अंतर है और यह क्या है फ्रेंड GSM क्या है इसे जुड़ी जानकारी प्राप्त करने के लिए मेरे पोस्ट के लास्ट तक पढ़े हैं।

GSM क्या है ?

GSM का full form क्या है?
GSM का full form होता है। Global System For Mobile Communication

GSM क्या है?हिंदी में जानिए।

जब यह एंड्रॉयड डिवाइस की बात आती है तो विशेष रूप से हमारे भारत में दो प्रमुख डिफरेंट सीटर्स है जिसका वास्तव में एंड्रॉयड के बाद कुछ भी लेना देना देना के बाद कुछ भी लेना देना देना नहीं होता है।

दोस्तो लेकिन आपके सेल्युलर करियर के लिए ही सब कुछ कुछ है गलती आप मोबाइल डिवाइस के बारे में बात कर रहे हैं तो या आप GSM डिवाइस या CDMA डिवाइस के बारे में बात कर रहे है।GSM मोबाइल ग्लोबल फॉर कम्युनिकेशन के लिए है और दुनिया के अधिकांश नेटवर्क का यह स्टेंडर्ड है।

GSM क्या है?

GSM एक मोबाइल कम्युकेशन मॉडल है। इसका मतलब ग्लोबल सिस्टम फॉर कम्युनिकेशन है GSM का विचार 1970 में बेल लैबोरेट्रीज में विकसित किया गया था। यह दुनिया में व्यापक रूप से मोबाइल कम्युकेशन सिस्टम का उपयोग करता है।
दोस्तो GSM एक ओपन और डिजिटल सेलुलर टेक्नोलॉजी है। जिसका उपयोग मोबाइल आवाज और डेटा सर्विसस को चलाने के लिए 850MHz, 900MHz, 1800MHz और 1900MHz फ्रीक्वेंसी बैंड पर होता है।

यूरोप और एशिया में GSM 

GSM Architecture in hindi
GSM आर्किटेक्चर  को रेडियो सब सिस्टम नेटवर्क और स्विचिंग सब सिस्टम और ऑपरेशन सब सिस्टम में विभाजित किया गया है रेडियो सब सिस्टम में मोबाइल स्टेशन और बस स्टेशन तक स्टेशन होते हैं।

मोबाइल स्टेशन आमतौर पर मोबाइल क्यों नहीं होता है जिसमें एक जिसमें एक होता है जिसमें एक नहीं होता है जिसमें एक जिसमें एक मोबाइल क्यों नहीं होता है जिसमें एक जिसमें एक होता है जिसमें एक नहीं होता है जिसमें एक जिसमें एक होता है।

दोस्तो जिसमें एक ट्रांसिवर डिस्प्ले और एक प्रोसेस होता है प्रत्येक हेड हेल्ड  पोर्टेबल मोबाइल स्टेशन में एक विशिष्ट पहचान होती है जिसे सिम( सब्सक्राइबर आईडेंटिटी चीफ ) के रूप में जाना जाता है। यह एक छोटा माइक्रोचिप होता है जिसे मोबाइल फोन में डाला जाता है और इसमें मोबाइल स्टेशन के बारे में डाटा बेस होता है।

1). Base  station subsystem 

यह मोबाइल स्टेशन को एयर इंटरफेस के माध्यम से नेटवर्क सब सिस्टम से जोड़ा जाता है।

इसमें नीचे दिए गए एलिमेंट एलिमेंटस है।

★ Base Transceires staion

एक या अधिक बेस ट्रांसिवर स्टेशन एयर इंटरफ़ेस के रूप के रूप में नेटवर्क को मोबाइल स्टेशन का फिजिकल कनेक्शन प्रदान करता है लोड सब्सक्राइबर व्यवहार और रूप और रूप रचना के आधार पर इसके अलग-अलग कॉन्फ़िगरेशन हो सकते हैं - स्टैंडर्ड कॉन्फ़िगरेशन प्रतीक बीटीएस को अलग फिर पहचान सीआई और कई टीवीएस एक स्थान क्षेत्र बनाते हैं।

Umbrella cell configuration हायर एल्टीट्यूड पर इंस्टॉल हार्ड ट्रांसमिशन पावर के साथ वन बीटीएस लोअर ट्रांसलेशन पावर ट्रांसमीटर स्टेशनों के लिए एक छतरी के रूप में कार्य करता है कलेक्टेड कॉन्फ़िगरेशन एक साइड पर कई बीटीएस कलेक्टेड होते हैं लेकिन एंटीना केवल 120 या 180 डिग्री के क्षेत्र को कवर करता है या पड़ोसी एनयूसेल का एक नेटवर्क है जो सर्विसेस क्षेत्र की पूरी कवरेज प्रदान करता है।

★ Base station controller : 

यह एक और बेस ट्रांसफर स्टेशनों के ऑपरेशन को कंट्रोल करता है मूल रूप से हेड ओवर या पावर कंट्रोल एक बीएससी एबिस -  इंटरफ़ेस पर बीटीएस से जुड़ता है इसमें बीटीएस की संपूर्ण मेंटेनेंस स्टेटस रेडियो और स्थानीय संसाधनों को गुणवत्ता और बीटीएस ऑपरेशन सॉफ्टवेयर शामिल है।

★ Transcoding rate and Adoption unit

यह बेस स्टेशन कंट्रोलर और मोबाइल स्विचिंग सेंटर के बीच स्थित है यह मोबाइल स्टेशन से स्पीच को कंप्रेस या डिकप्रेस करता है हालांकि इसका उपयोग डाटा कनेक्शन के लिए नहीं किया जाता है।

★ Network swiching subsystem

यह एनकीप्शन प्रमाण कर और रोमिंग सुविधाओं का उपयोग करके कॉल सेट करने के लिए आवश्यक कंट्रोल और डेटाबेस फंक्शन का पूरा सेट प्रदान करता है यह मूल रूप से मोबाइल स्टेशन को नेटवर्क कनेक्टेड प्रदान करता है इसमें नीचे दिए गए एलिमेंट होते हैं।

a). Mobile switching centre

यह समग्र जीएसएम नेटवर्क के भीतर मुख्य एलिमेंट है यह एक पब्लिक स्वीट्स टेलीफोन नेटवर्क ( PSTN ) एक्सचेंज या इंटीग्रेटेड सर्विसेज डिजिटल नेटवर्क  ( ISDN ) एक्सचेंज की तरह है सामान्य कार्य सिस्टम के अलावा यह पंजीकरण प्रमाणीकरण कॉल लोकेशन और सब्सक्राइब को कॉल रूटिंग जैसी अतिरिक्त कार्य क्षमता का सपोर्ट करता है।

यह दूसरे मोबाइल फोन से कनेक्शन के लिए किसी अन्य मोबाइल टीचिंग सेंटर के लिए लैंडलाइन या इंटरफेस के संबंध में पब्लिक लिस्ट टेलिफोन नेटवर्क को इंटरफ़ेस प्रदान करता है

b). Home location register

यह एक रिपोजिटरी है जो बड़ी संख्या में सब्सक्राइबर से संबंधित डाटा संग्रहित करता है यह मूल रूप से एक बड़ा डेटाबेस है जो प्रत्येक सब्सक्राइबर के डाटा को एडमिनिस्टर करता है सुरक्षा उद्देश्यों के लिए यह सब्सक्राइबर विशिष्ट पैरामीटर जैसे पैरामीटर ki जिसे केवल HLR और सिम के लिए जाना जाता है आर रखता है।

GSM कम्युनिकेशन कैसे काम करते है?

Global system for mobile
Communication ( GSM ) टाइम डिवीजन
मल्टीपल एक्सेस ( TDMA ) और फिक्वेन्सी डिवीजन
मल्टीपल एक्सेस ( FDMA ) की कम्युनिकेशन का उपयोग करता है।

Frequency Division Multiple Access
इसमें एक टी-20 बैंड की कई बैंक में विभाजित करना शामिल है जैसे कि प्रत्येक सब डिवाइस फ्रिकवेंसी बैंड को सिंगल सब्सक्राइबर को आवंटित किया जाता है। GSM में FDMA 25 MHz बेडविड्थ की 124 कैरियर फिक्वेंसीयो में विभाजित करता है जो प्रत्येक  200 KHz को अलग करता है प्रत्येक बेस स्टेशन को एक या अधिक केरियर फ्रिकवेंसियो  को आवंटित किया जाता है।

★ Time Division multiple access
इसमें कि क्वेंसी बैंड को कई टाइम इस्लाम में विभाजित करके अलग अलग सब्सक्राइबर को एक ही फिक्वेन्सी चैनल आवंटित करना शामिल है प्रत्येक यूजर्स को अपना स्वर का समय मिलता है जिससे कई स्टेशनों को एक ही ट्रांसलेशन लोकेशन शेयर करने की अनुमति मिलती है।

GSM के लिए प्रत्येक उपविभाजित  केरियर फ्रीक्वेंसी को TDMA  तकनीक का उपयोग करके अलग अलग समय इस प्लाट में विभाजित किया गया है प्रत्येक TDMA फ्रेम  4.164 मिली सेकेंड  ( MS )तक रहता है है और इसमें 8 टाइम है इस प्रेम के भीतर प्रत्येक टाइम लात या एक भौतिक चैनल 577 माइक्रोसेकंड तक रहता है और डाटा को बेस्ट के रूप में टाइम स्टाल में ट्रांसमिट किया जाता है।

कौन से नेटवर्क GSM का उपयोग करता है?

यहां बस मोबाइल कैरियर है और जो GSM  का उपयोग करते हैं जैसे -
◆ आइडिया
◆ एयरटेल
◆ जियो
◆ वोडाफोन

GSM services

स्पीय या वायस कॉल जाहिर तौर पर GSM सेल्यूलर सिस्टम का प्राथमिक कार्य है इसे प्राप्त करने के लिए  स्वीप डिजिटल रूप से इन फूड किया गया है और फिर बाद में एक  vocoder का उपयोग करके डिकोड किया गया है विभिन्न परिदृश्यों से विभिन्न प्रकार के वोकाडर्स उपयोग के लिए उपलब्ध है।

वॉयस सर्विसेस इसके अलावा GSM सेल्यूलर टेक्नोलॉजी विभिन्न डेटा सर्विसेस का सपोर्ट करती है उनका प्रदर्शन 3G द्वारा प्रदान किए गए स्तर के आसपास नहीं है  फिर भी वे  अभी भी महत्वपूर्ण और उपयोगी है। 9.6 Kbps तक का यूजर डाटा रेट्रेस के साथ विभिन्न डेटा सर्विस सपोर्ट है ग्रुप 3 फेससिमिल वीडियोटेक्स  और टेलेटेक्स सहित सर्विसेस का सपोर्ट किया जा सकता है।

एक सर्विस जो बढ़ रही है वह है टैक्स मैसेज सर्विस जीएसएम स्पेसिफिकेशन के हिस्से के रूप में विकसित इसे अन्य सेल्यूलर टेक्नोलॉजी में भी शामिल किया गया है यह पेंजिग सर्विस के सामन होने के बारे में सोचा जा सकता है लेकिन दीदी सात्मक संदेश स्टोर और फारवर्ड डिलीवरी की अनुमति देना कहीं अधिक व्यापक है और यह उचित लंबाई के अल्फान्यूमैरिक मैसेज की अनुमति देता है यह सर्विस विशेष रूप से लोकप्रिय हो गया है शुरुआत में युवाओं के साथ क्योंकि यह सरल कम लागत प्रदान करता है।

GSM VS CDMA

व्यावहारिक और रोजमर्रा के प्रयोजनों के लिए GSM अन्य नेटवर्क पोधोगिकियो की तुलना में यूज़र को व्यापक अंतर्राष्ट्रीय रोमिंग क्षमता प्रदान करता है और फिर फोन को दुनिया का फोन होने मे सक्षम  बना सकता है। और क्या है कि आसानी से फोन स्वैप करने और कॉल पर डेटा का उपयोग करने जैसी चीजों का GSM नेटवर्क पर सपोर्ट किया जाता है लेकिन CDMA पर नहीं किया जाता है।

GSM कैरियर्स के पास अन्य जीएसएम कैरियर्स के साथ रोमिंग कॉन्टेक्स्ट होता है और आमतौर पर प्रतिस्पर्धा  CDMA के कैरियर्स  के तुलना में ग्रामीण क्षेत्रों को पूरी तरह से कवर करते हैं और अक्सर रोमिंग शुल्क के बिना।

GSM आसानी से स्वेपेबल  सिम कार्ड का लाभ है जीएसएम ए फोन आपके फोन नंबर और अन्य डेटा जैसा आपकी ( सब्सक्राइबर की )  जानकारी को सगहित करने के लिए सिम कार्ड का उपयोग करते है जो यह साबित करता है कि आप वास्तव में उसके कैरियर के  सब्सक्राइबर है।

इसका मतलब यह है कि आप किसी भी GSM  फोन में सिम कार्ड लगा सकते हैं ताकि फोन कॉल टेक्स्ट बनाने के लिए अपनी सभी पिछले सब्सक्रिप्सन जानकारी जैसे  ( आपके नंबर के ) साथ नेटवर्क पर उसे तुरंत जारी रख सकें।

CDMA फ़ोन के साथ हालांकि सिम कार्ड ऐसी जानकारी को संग्रहित नहीं करता है आपकी पहचान CDMA नेटवर्क से जुड़ी होती है ना कि फोन से इसका मतलब यह है कि CDMA सिम कार्ड स्वैप करने से डिवाइस उसी तरह संक्रिया नहीं होता है इसके बजाय आपको डिवाइस को एक्टिव /  स्वैप करने से पहले कैरियर्स से परमिशन की आवश्यकता होती है।

CDMA और जीएसएम की तुलना करते समय विचार करने के लिए और है कि सभी GSM नेटवर्क डाटा का उपयोग करते समय फोन कॉल करने को भी सपोर्ट करते हैं इसका मतलब है कि आप एक फोन कॉल पर सोते समय भी अपने नेविगेशन मैप का उपयोग कर सकते हैं या फिर इंटरनेट ब्राउजर कर सकते हैं इस तरह का क्षमता ज्यादातर CDMA नेटवर्क पर सपोर्ट नहीं होती है।

GSM का इतिहास क्या है जानिए हिंदी में?

संयुक्त राज्य अमेरिका में Advanced mobile phone system ( AMPS )  और यूनाइटेड किंगडम में  united states and total access communication system ( TACS ) सहित GSM को एनालॉग टेक्नोलॉजी के साथ बनाया गया था टेलीकम्युनिकेशन सिस्टम अधिक यूजर्स को अपनाने में असमर्थ की इन सिस्टम को कंपनियों ने एक अधिक शुल्क सेलर टेक्नोलॉजी की आवश्यकता की ओर इशारा किया जिसका उपयोग अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी किया जा सकता है।

उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए postal and telecommunication administration  के यूरोपीय सम्मेलन में 1983 में डिजिटल टेलीकम्युनिकेशन के लिए एक यूरोपीय स्टैंडर्ड विकसित करने के लिए एक  समिति का गठन किया गया। CEPT ने कई मानदंडों पर निर्णय लिया  जो कि इस नई सिस्टम को पूरा करना चाहिए अंतरराष्ट्रीय रोमिंग सपोर्ट कम हार्ड स्पीच क्वालिटी हेड हेल्ड डिवाइस के लिए सपोर्ट कम सर्विसेज लागत नई सर्विस इसके लिए सपोर्ट और इंटीग्रेटेड सर्विस डिजिटल नेटवर्क   ( ISDN ) क्षमता।

1987 में 13 यूरोपीय देशों में प्रतिनिधियों ने एक  टेलीकम्युनिकेशन स्टैंडर्ड को डिवेलप करने के लिए एक कांट्रैक्ट पर हस्ताक्षर किए ने यूरोप में 1 स्टैंडर्ड के रूप में जीएसएम की आवश्यकताओं के लिए कानूनी पारित किया 1989 में जीएसएम प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी CEPT से EURo pean टेलीकम्यूनिकेशन standareds institute को हस्तांतरित की गई ।

GSM पर आधारित मोबाइल सर्विस को पहली बार 1991 में फिनलैंड में लांच किया गया था उसी वर्ष GSM स्टैंडर्ड फिक्वेन्सी बैंड का विस्तार से तक किया गया था 2010 में जीएसएम ने वैश्विक मोबाइल बाजार का 80% प्रतिनिधित्व किया  हालांकि कई टेलीकम्युनिकेशन करियर में अपने जीएसएम नेटवर्क पर पाबंदी लगा दी है जिसने ऑस्ट्रेलिया में टेरा भी शामिल है 2017 में सिंगापुर ने अपने 2 ने GSM नेटवर्क की सर्विसेस को निवृत्त कर दिया।

निष्कर्ष :-
हेलो फ्रेंड मैं उम्मीद करता हूं कि आप सभी GSM औ CDMA में क्या अंतर है और यह क्या काम करता है यह तो आप समझ ही गए होंगे।  फ्रेंड आपको मेरी पोस्ट कैसी लगी यह कमेंट करके जरूर बताएं और अगर आपको इससे जुड़े कोई भी प्रश्न हो तो आप पूछ सकते हैं इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों में शेयर करें ताकि वह भी इन सारी चीजों की जानकारी प्राप्त कर सकें।

Post a Comment

0 Comments