USB क्या है , और कितने प्रकार का होता हैं?

हेलो फ्रेंड आप सभी का स्वागत है आपके अपने ब्लॉग hytechsin .com में फ्रेंड आज हम जानेंगे यूएसबी क्या है यह कितने प्रकार के होते हैं इत्यादि इससे जुड़ी सभी जानकारी आज की पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा फ्रेंड में हमेशा यही कोशिश करूंगा की आपकी सभी सवालों का जवाब मैं देख सकूं और आपके सभी doubt क्लीयर कर सकूं।

USB क्या है यह आप सभी तो जानते ही होंगे लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि यूएसबी क्या है इश्क कितने प्रकार मौजूद है और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है अगर आपको इससे जुड़ा कोई भी doubt हो तो मेरे इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें आपके सभी doubt  क्लियर हो जाएंगे।

USB का फुल फॉर्म क्या होता है?

यूएसबी का फुल फॉर्म होता है Universal Serial Bus जो कि एक pulg - any play interface होता है। और इसकी मदद से कंप्यूटर को दूसरे डिवाइस और प्रोफाइल के साथ कम्युनिकेट करने में मदद करता है।

USB - connected devices एक बहुत ही बड़े range को cover करता है जैसे कि - Keyboards, Mouse, Players, और Flash drives इस USB cable के मदद से computer को दूसरे device जैसे कि Printer, Monitor, Scanner, Mouse और Keyboards के साथ जोड़ा जाता है ये USB interface का  1 मुख्य भाग है जिसमें की बहुत से अलग प्रकार के Ports Cables  और Connectors होते हैं।

इस USB Connectors को इस लिए develop
किया गया है ताकि Computer और दूसरे devices को आसानी से connect किया जा सके USB interface के आविष्कार के पूर्व बहुत से variety के connectors हुआ करते थे लेकिन इसके आने के बाद पूरा नजरिया ही बदल गया है। क्योंकि इन USB cables के बहुत से benefits मौजूद है जैसे कि इन्हें आप आसानी से plug - and play किया जा सकता है। इसमें data transfer rate ( DTR ) बहुत ही ज्यादा है इससे connectors के numbers में भी काफी घटोत्तरी हुई है।

USB क्या है?

एक USB port बहुत ही standard cable connection होता है जो एक interface प्रदान करता है personal computers और consumer electronic devices के बीच USB का full form होता है Universal Serial Bus जो कि industry standard होता है short distance digital data communications के लिए USB ports allow करते है USB devices को एक दूसरे के साथ connect होने के लिए जिससे कि वह वह आसानी से digital data transfer कर सके USB cable के माध्यम से इसके साथ इनके इस्तेमाल से इलेक्ट्रॉनिक पावर भी सप्लाई किया जा सकता है डिवाइस के बीच बीच

USB standard में दोनों wired और wireless version स्थित है लेकिन केवल wired version में ही USB porst और cables होते है सबसे पहले universal serial bus ( version 1.0 ) को commerially सन 1996 के जनवरी महीना में रिलीज किया गया था इस industry standar की जल्दी ही दूसरे बड़े companies जैसे कि intel, compaq , microsoft इत्यादि के द्वारा अपना लिया गया था।

USB Thumb drive
यूएसबी थम ड्राइव साधारण फ्लैश ड्राइव या पेन ड्राइव पेन ड्राइव ड्राइव या पेन ड्राइव पेन ड्राइव ड्राइव ड्राइव या पेन ड्राइव पेन ड्राइव ड्राइव या पेन ड्राइव पेन ड्राइव को कहा जाता है जो प्रचुर मात्रा में डाटा को इंस्टॉल इंस्टॉल कर सकते हैं डाटा की अधिक मात्रा में सुरक्षित रखना प्लीज ड्राइव की क्षमता पर निर्भर करता है या एक पोर्टेबल डिवाइस होता है जिसे किसी भी कंप्यूटर सिस्टम में एक यूएसबी पोर्ट के माध्यम से जोड़ देते हैं और डाटा का लेन देन कर सकते कर सकते देन कर सकते कर सकते हैं यह एक पलक एंड थे डिवाइस होती है जिसे आप किसी से सिस्टम में बिना समय गवाएं तुरंत इस्तेमाल कर सकते हैं इसीलिए लोग इसे डाटा ट्रैवलर के नाम से भी जानते हैं ।

USB क्या है हिंदी में जानिए।

यूएसबी एक सबसे लोकप्रिय कनेक्शन है जो कंप्यूटर से डिजिटल कैमरा प्रिंटर स्केनर और हाई ड्राइव जैसे डिवाइस को कनेक्ट करने के लिए उपयोग किया जाता है।

यूएसबी एक फ्रांस प्लेटफॉर्म टेक्नोलॉजी है जो अधिकांश ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा सपोर्टेड है विंडोज पर इसका उपयोग उपयोग विंडोज 98 और हाईयर वर्शन पर किया जा सकता है।

USB के Advantages क्या है?
★ इस्तेमाल करने मैं आसानी - यूएसबी को इसलिए डेवलप किया गया है क्योंकि यह यूजर के द्वारा आसानी से इस्तेमाल किया जा सके।

★ Multiple devices के लिए singleinterface - यूएसबी के versatile nature के वजह से यह अलग-अलग डिवाइस के साथ में कनेक्ट होने में आने वाली complexit को दूर करता है और बड़ी ही आसानी से दूसरे  peripherals के साथ कनेक्ट हो जाता है।

★ Auto configuration - यहां पर host डिवाइस की ऑपरेटिंग सिस्टम एक बार ही यूएसबी डिवाइस या ड्राइव को इंस्टॉल करने की जरूरत है बाद में जब भी वह पेरीफेरल डिवाइस को सिस्टम के साथ कनेक्ट किया जाएगा तब ही ऑटोमेटेकली उसका ड्राइव लोड हो जाएगा जिससे वो plugged in device  को configure  कर लेगा इससे आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

★ Expand करने में आसानी होगी - आमतौर से parsanal computer  ( matherboads ) में 3 से 4 USB ports होते है और अगर भविष्य में अधिक यूएसबी habs  की जरूरत भी पड़े तो वैसे भी अब के इस्तेमाल से हम  external ports add कर सकते हैं।

★ External power की जरूरत नही - यूएसबी डिवाइस को चलाने के लिए external power की जरूरत नहीं होती है क्योंकि उन्हें उस हिसाब से बनाया जाता है जिससे कि वो host  डिवाइस को SV DC  प्रदान कर सकें।

★ computer size का होना - यूएसबी सॉकेट की सारी बहुत ही छोटी होती है अगर हम लोग उसकी तुलना  Rs 232और parallel power  से करें तब।

★ speed - यूएसबी दूसरे केबल के के तुलना में बहुत ही ज्यादा स्पीड और eficient  होता है यह लगभग 1.5 Mbit / S से 5Gbit / S तक कि data को trunsfer rato की speed प्रदान करता है।

★ Low power consumption करता है - यूएसबी डिवाइस आमतौर से +SV  में ही काम करता है और बहुत ही काम  current milliampere करते हैं। इतने सारे advantages से भी इसके कुछ disadvantages भी मौजूद है तो चलिए अब उसी के विषय में जानते हैं।

USB के Disadvantages क्या है?

★ Speed - नए technology USB 3.0 के होने से SG bits / sec तक कि data transfer rate तक पहुंचाया जा सकता है लेकिन ये Gigabit Ethermet से भी बहुत कम है।

★ Distance का न होना - यूएसबी स्टैंडर्ड के हिसाब से से हिसाब से से हिसाब से से कनेक्टिंग केबल ज्यादा से ज्यादा 5 ज्यादा से ज्यादा 5 मीटर तक ही लंबी हो सकती है इसके बाद यूएसबी हॉट्स का इस्तेमाल होता है connectivity को expand करने के लिए।

★ Broadcasting - यूनिवर्सल सीरियल यूएसबी में हम broadcasting नहीं कर सकते हैं यहां केवल Individual messages को भी communicate किया जा सकता है host और peripheral के बीच।

Device class क्या है?

सभी तरह की यूएसबी डिवाइस की एक रिसीव क्लास होती है जो कि यह यह define  करती है कि उस डिवाइस की functionality और purpose क्या है यहा host load कर देता है device class के हिसाब से suitable driver जो most common device class है वो कुछ इस प्रकार से है।

★ Human Interface Device ( HID )
इस क्लास को को जनरली वही इस्तेमाल करते हैं जोकि interrupt transfer का इस्तेमाल करते हैं डाटा  communication के लिए उदाहरण के लिए जैसे  - keyboard , mouse , और joystick ।

★ Mass storage
इस क्लास का का इस्तेमाल वह लोग करते हैं जिन डिवाइस को बड़ी मात्रा में डाटा को ट्रांसफर करने की जरूरत होती है और वह भी बल्क ट्रांसफर के द्वारा उदाहरण जैसे  - यूएसबी फ्लैश ड्राइव मेमोरी कार्ड और एक्सटर्नल हार्ड डिस्क।

★ USB Hob
इसका इस्तेमाल एचडी एप्स के द्वारा के द्वारा होता है नंबर ऑफ़ पार्ट्स को एक्सपेंड करने के लिए लिए करने के लिए।

★ Image
इन्हें इमेज के लिए इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि वेबकेन और स्केनर में।

★ Audio
यह क्लास का इस्तेमाल ऑडियो डिवाइस के द्वारा होता है जैसे कि माइक्रोफोन स्पीकर एक्सटर्नल साउंड कार्ड इत्यादि यह डिवाइस data communication के लिए isochranous tranfer  का इस्तेमाल करते हैं।

★ Printer
इसलिए प्रिंटिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि लेजर प्रिंटर , इंकजेट प्रिंटर और civc machines में ।

★ wireless
 इसे external adapter के द्वारा wireless communication के लिए इस्तेमाल किया जाता है उदाहरण जैसे- ब्लूटूथ ,802.11


USB port काम ना करने करने पर क्या करें?

सभी चीजें कंप्यूटर में स्मूथली काम नहीं करती है उसमें कुछ ना कुछ प्रॉब्लम होती रहती है ठीक उसी तरह यूएसबी पार्ट्स कभी-कभी काम नहीं करते हैं तो मैं आप सभी को कुछ ऐसे बातें बताने वाला हूं जिसका इस्तेमाल आप ऐसे समय पर कर सकते हैं।

यूएसबी पार्ट्स के ठीक से काम ना ना करने के बहुत से कारण हो सकते हैं जैसे कि  sudden उसका काम करना बंद कर देना ऐसे प्रॉब्लम को hard were या soft were failure से track किया जा सकता है।
◆ सबसे पहले अपने कंप्यूटर को रिस्टोर कर ले ले
◆ या फिर आप फिजिकली यूएसबी पार्ट्स को इंस्टॉल कर सकते हैं
◆ उसके बाद आप अलग-अलग यूएसबी पार्ट्स में क्लॉक को डाल सकते हैं और फिर चेक कर सकते हैं कि यह सही से काम कर रहा है या नहीं
◆ या फिर आप चाहे तो किसी दूसरे यूएसबी केबल को इस्तेमाल करके देख सकते हैं देख सकते केबल को इस्तेमाल करके देख सकते हैं देख सकते देख सकते हैं कि आपका यूएसबी केबल सही है या नहीं
◆ उसके बाद आप अपने डिवाइस को किसी दूसरे के कंप्यूटर में इंसर्ट करके देख सकते हैं
◆ या फिर आप अपने सिस्टम को अपडेट भी कर सकते हैं क्योंकि कई बार outdated dvices के कारण भी यूएसबी पोर्स  काम नहीं करता है।

USB ports devices मैं कहां स्थित होता है?

प्राय सभी मॉडल कंप्यूटर में कम से कम एक यूएसबी पार्ट्स होता ही है यहां पर कुछ ऐसे ही टाइप कर लोकेशन के बारे में मैंने बताया है कि आप एक कंप्यूटर में इन एचडी पार्ट को लोकेट कर सकते हैं।

★ Desktop  Compater
एक desktop  कंप्यूटर में अक्सर दो या चार पार्ट्स होते हैं सामने के तरफ और दो से आठ पार्ट्स होते हैं पीछे की तरफ

★ Laptop Computer
 एक लैपटॉप कंप्यूटर में उसके साइड में एक से चार चार से चार पार्ट्स स्थित होते हैं।

★ Tablet Computer
अगर एक टैबलेट में यूएसबी पार्ट्स होते हैं तब यह अक्सर वही charging पार्ट्स ही होता है।

★ Smartphone
बहुत ही कम स्मार्ट फोन में यूएसबी पास में यूएसबी पास मौजूद रहता है लेकिन बहुत सारे लोग यूएसबी फास्ट का इस्तेमाल अपने फोन को चार्ज करने के लिए करते हैं।

USB Devices क्या है?

आज हम लगभग लाखों के आधार पर अलग-अलग यूएसबी डिवाइस इस्तेमाल यूएसबी डिवाइस इस्तेमाल करते हैं
जिसे हम सभी अपने कंप्यूटर के साथ कनेक्ट करके इस्तेमाल करते हैं यूएसबी डिवाइस उसे कहा जाता है जो कि कि एसबी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल अपने ऑपरेटिंग को सुचारू रूप से से करने के लिए करते हैं यहां मैं कुछ आपको ऐसे ही यूएसबी डिवाइस के बारे में बताने जा रहा हूं जिन्हें हम अपनी जिंदगी में इस्तेमाल करते हैं।
◆ digital camera
◆ external drive
◆ iPod or other MP3 player player MP3 player player
◆ keyboard
◆ keypad
◆ microphone
◆ Mouse
◆ printer
◆Joystick
◆ jump drive akaThumbal drive
◆ smartphone
◆ tablet
◆webcoms
◆scanner

इन यूएसबी इंटरफेस को सबसे पहले मध्य 1990 में डिवेलप किया गया और उन्हें USB implementers forum ( USB - IF )  के द्वारा standardized किया गया ये  standards के अनुसार दी प्रकार के है। A- type और B- type इन USB connector को जानकारी design किया गया है ठीक तरीके से connector होने के लिए या इन्हें गलत तरके एक तरह से नामुमकिन ही है इसलिए users के आसानी के लिए USB icon को plug के ऊपर तरफ imprint किये जाता है जो कि visually किसी की आसानी से दिखाई पड़ सकता है। इसके साथ USB standards ये पहले से ही speed कर देता है कोन का connector किस प्रकार के extension cable पर fit बैठेंगे।

अब तो USB connector के बहुत सारे version मोज़दूर है जो कि अपने - अपने DTRs के हिसाब से vary करते है। उदाहरण स्वरूप USB 1.0 जिसकी DTR होती है 480 mbps और USB 30. Or superspeed जिसकी DTR होती है 5 Gbps

USB इंटरफ़ेस के इस्तेमाल से बहुत से पूर्व interface जैसे कि serial और parcellel  ports individual power chargers portable device के लिए USB connectars का इस्तेमाल अब ऐसे डिवाइस जैसे कि नेटवर्क डॉक्टर और और टेबल मीडिया प्लेयर वीडियो गेम कैंसोलेस के तरह और स्मार्टफोन में किया जा रहा है

Types of USB cable in hindi

यह डाउट आप में से बहुत लोगों के मन में होगा कि यदि इन एचडी इनवर्टर है तब इसके इतने ज्यादा टाइप क्यों मौजूद है यह बहुत ही बढ़िया सवाल है लेकिन इसका जवाब भी उतना ही आकर्षक है जो कि इस प्रकार से है सभी यूएसबी केबल के अलग-अलग फंक्शन होते हैं mainly नए - नए डिवाइस के हिसाब से उनके साथ ncompatible सोने के लिए ज्यादा बेहतर स्पेस वाले यूएसबी केबल को बनाया जाता है मैंने ऐसे ही कुछ यूएसबी केबल के विषय में बताया है।

Type - A: प्राय सभी केबल में एक type - A कनेक्टर एक छोर पर होता है प्राय सभी periphoralse जैसे ही ( कीबोर्ड और माइक ) में VSU ally multiple type- A ports पाया जा सकता है और कई दूसरे डिवाइस और पावर एडॉप्टर type - A का इस्तेमाल डाटा ट्रांसफर और चार्जिंग के लिए करते हैं।

Type - B: यह दिखने में लमोस्ट शेयर कनेक्टर जैसा होता है इसका इस्तेमाल मुख्य प्रिंटर और दूसरे पावर डिवाइस के लिए होता है जिसे कि कंप्यूटर के साथ कनेक्ट किया जाता है ये type - A की तुलना में बहुत ही कम इस्तेमाल में लाया जाता है।

Mini - USB : यह एक स्टैंडर्ड कनेक्टर टाइप होता था मोबाइल डिवाइस के लिए जब माइक्रो यूएसबी टाइप नहीं हुआ करते थे जैसे कि इसके नाम से पता चलता है की मिनी यूएसबी बहुत ही छोटा हुआ करते थे रूलर यूएसबी की तुलना में और यह अब भी कुछ ऐसे कनेक्टर में इस्तेमाल किए जा रहे हैं जहां की अब भी non-standard कनेक्टर का इस्तेमाल किया जा रहा है।

Micro - USB : यह अभी के मोबाइल और दूसरे पोर्टेबल डिवाइस में इस्तेमाल किया जाने वाला स्टैंडर्ड यूएसबी केबल है इसे सभी मैन्युफैक्चर के द्वारा इस्तेमाल में लाया जा रहा है लेकिन बस एप्पल को छोड़कर।

Type - C: यह एक  reversible केवल है जिससे की higher transfer rates और ज्यादा पावर पाया जा सकता है previous USB type के मुकाबले इसके बेहतरीन features के वजह से ही के लगभग सभी standard, laptops, desktop, tablets, or smartphone मे इस्तेमाल  में लाया जा रहा है।

USB 3.0 क्या है?

USB 3.0 अभी लेटर यूएसबी स्टैंडर्ड के अनुसार सबसे faster transfer rates प्रदान कर रही है इसके साथ ही अपने पूर्व USB version  के साथ भी compateble है ये fully compateble तो है लेकिन इसके features को पाने के लिए सभी components का USB 3.0 compatible होना बहुत ही जरूरी है इन USB 3.0 cables में एक extra pin available होता है जोकि अलाउड करता है लेकिन यूएसबी 3.0 जैसे स्पीड हासिल नहीं कर सकते यह एक बहुत ही इमेजिन स्टैंडर्ड है जोकि टेक्नोलॉजी के साथ बदल भी रहा है धीरे-धीरे और भी फास्ट हो रहा है।

USB ports की transfer speed

जैसे कि आप लोग जानते हैं कि अलग-अलग यूएसबी पोर्ट्स के हिसाब से अलग-अलग ट्रांसफर स्पीड होते हैं जिनके बारे में हम अब जानेंगे।

USB 1.× : - ये एक external bus standard है जो कि data transfer ates को सपोर्ट करता है और ये capable होता है करीब 127 peripheral devices को support करने में।

USB 2.0 - इसे hi- speed के नाम से भी जाना जाता है इसे सन उन्नीस सौ एक में पहली बार इस्तेमाल में लाया गया था उसके बाद दूसरे कंपनी जैसे की compay, hewlett, packard, inter, lucent, microsoft, NEC और phillips के द्वारा इस्तेमाल में लाया गया हाई स्पीड यूएसबी बैकवर्ड कंप्यूटर होते हैं जिसका मतलब चाहिए यूएसबी 1.0 और 1.1 वाले डिवाइस और केवल को सपोर्ट करते हैं।

USB 3.0 - इन्हें सुपर स्पीड यूएसबी भी कहा जाता है पानी बाय सन 2009 में Buffalo technology के द्वारा बनाया गया था लेकिन पहली certified devices अवेलेबल ना होने के कारण इसे 2010 में सबसे पहले इस्तेमाल किया गया था यूएसबी 3.0 यूएसबी 2.0 टेक्नोलॉजी की तुलना में ज्यादा स्पीड और बेहतर improved पावर मैनेजमेंट होता है और इसकी bandwidth capability  भी बेहतरीन है इसमें एक साथ दो unidirectional data paths में data को receive और सेंड भी किया जा सकता है यूएसबी 3.0 करीब 5.0 G bps की ट्रांसफर स्पीड को सपोर्ट करता है।

USB 3.1 - इन्हें super speed+ भी कहा जाता है इसे सबसे पहले सन 2013 में मार्केट में अवेलेबल कराया गया था यह फिलहाल सबसे latest version  है यूएसबी प्रोटोकॉल की यूएसबी 3.1 करीब 10 G bps की ट्रांसफर स्पीड को सपोर्ट करता है।

निस्कर्ष :-
हेलो फ्रेंड मैं उम्मीद करता हूं कि यूएसबी क्या है इसका फुल फॉर्म क्या है और इस कितने प्रकार के होते इत्यादि इससे जुड़ी सभी जानकारी आपको समझ में आ गई होगी पाठकों से मेरा अनुरोध है कि अपने मित्रों आज पड़ोस रिश्तेदारों मैं इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि आपके और मेरे बीच जागरूकता होगा और लाभ भी प्राप्त होगा मुझे आप सभी के सहयोग की बहुत आवश्यकता है जिससे मैं और भी जानकारी आप तक पहुंचा सकूं।

मेरा हमेशा यही कोशिश रहेगा कि मैं हमेशा अपने पाठकों की मदद करूं यदि फ्रेंड आपको किसी प्रकार का डाउट है तो आप बेझिझक पूछ सकते हैं मैं हमेशा कोशिश करूंगा कि आपके डाउट को क्लियर कर सकूं फ्रेंड आपको यह पोस्ट यूएसबी क्या है कैसा लगा यह मुझे कमेंट करके जरूर बताएं।

Post a Comment

0 Comments