विदेशी छात्रों को आकर्षित करने के लिए "स्टडी इन इंडिया " प्रोग्राम शुरू करेगी सरकार।

विदेशी छात्रों को आकर्षित करने के लिए "स्टडी इन इंडिया " प्रोग्राम शुरू करेगी सरकार।

हेलो फ्रेंड आप सभी का स्वागत है आपकी अपने ब्लॉग hytechsin.com में तो फ्रेंड मैं आप सभी के लिए नई नई खबर लेकर आया हूं फ्रेंड अगर आप जानना चाहते हैं कि अभी हमारी सरकार किस तरह का फैसला ले रही है छात्रों और उनकी शिक्षा  को लेकर तो फ्रेंड यह पोस्ट बिल्कुल आप ही के लिए है



अब घर बैठे जान सकते हैं कि हमारी सरकार हमारे भविष्य के लिए किस तरह का फैसला कर रही है तो चलिए फ्रेंड बिना देर किए मैं आपको आगे बताता हूं की सभी छात्रों के लिए किस तरह का सरकार ने फैसला लिया है और क्या कर रही है हमारे शिक्षा को लेकर तो फ्रेंड आप मेरे पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पढ़े तभी आप अच्छी तरीके से समझ पाएंगे कि हमारी सरकार किस तरह के नए नए फैसले ले रही है और आप ज्यादा से ज्यादा इन सारी चीजों के बारे में जान सकेंगे ताकि अगर आप से कोई किसी तरह का प्रश्न  करता है तो आप बिना हिचकिचाहट के उसके  सभी प्रश्नों के उत्तर दे सकें।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए कहा है कि सरकार ने विदेशी छात्रों को आकर्षित करने के लिए " स्टडी इन इंडिया " कार्यक्रम की शुरुआत करेगी। और उन्हें भारत में आकर शिक्षा प्राप्त करने का मौका दिया जाएगा।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट शुक्रवार को संसद में पेश किया जाएगा बजट भाषण के दौरान वित्त मंत्री ने शिक्षा के लिए कई प्रकार की घोषणा की है उन्होंने भाषण के दौरान कहा है कि विदेशी छात्रों को भारत में पढ़ने के लिए आकर्षित करने के लिए सरकार स्टडी इन इंडिया प्रोग्राम शुरू करेगी साथ ही देश में विश्वस्तरीय उच्च शिक्षण संस्थानों को बढ़ावा देने के लिए 400 करोड़ रुपए ऑफिस करने की घोषणा की है।

वित्त मंत्री ने बजट भाषण के दौरान कहा कि पांच साल पहले भारत का कोई भी विश्वविद्यालय दुनिया के टॉप 200 विश्वविद्यालय के लिस्ट में शामिल नहीं था लेकिन आज के समय में हमारी तीन संस्था इस लिस्ट में अपनी जगह बनाने में कामयाब रही है।

वित्त मंत्री ने कहा कि आईआईटी और आईआईएससी रिसर्च में मदद करेंगे सीतारमण ने कहा कि नेशनल रिसर्च फाउंडेशन भारत में तमाम शोध कार्यों को समन्वित करने के साथ ही वित्त पोषण भी करेगा उन्होंने यह भी कहा कि हम आर्टिफिशियल, इंटेलिजेंट ,बिग डाटा, रोबोटिक इत्यादि क्षेत्रों में अपने युवाओं की कोशिश बढ़ाने में सहायता करेंगे।


वित्त मंत्री ने देश में विश्वस्तरीय उच्च शिक्षा संस्थानों को बढ़ावा देने के लिए 400 करोड़ रुपए आवंटित करने की घोषणा भी की है उन्होंने यह भी कहा है कि यह रकम पिछली सरकार के संशोधित अनुमान का तीन गुना अधिक है उन्होंने यह भी कहा है कि स्टडी इन इंडिया प्रोग्राम हमारे होनहार छात्रों को विदेश जाने से भी रोकेगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में नई शिक्षा नीति की जल्द घोषणा होगी और उन्होंने कहा कि न्यू हायर एजुकेशन कमीशन स्वायत्तता को अधिक से अधिक बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेगा सीतारमण ने कहा कि नई शिक्षा नीति स्कूलों तथा उच्च शिक्षा में बदलाव लाने का प्रस्ताव पेश करेगी।

हेलो फ्रेंड मैं उम्मीद करता हूं कि आप सभी यह तो समझ ही गए होंगे कि हमारी सरकार हमारे शिक्षा को लेकर कि किस तरह का फैसला कर रही है तो फ्रेंड जैसे कि मैंने आपको पहले ही कहा था कि आप मेरे पोस्ट में हमारी सरकार द्वारा ली जाने वाली फैसलों के  बारे में अच्छे से समझ जाएंगे।

निष्कर्ष :-
मैं उम्मीद करता हूं कि आप सभी को मेरा पोस्ट पसंद आया होगा अगर आप सभी को मेरा पोस्ट अच्छा लगा है तो इसे ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया पर शेयर करें और इसे अपने दोस्त रिश्तेदार जो भी हैं उनके साथ शेयर करें अगर फ्रेंड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न है तो आप मुझे कमेंट करके जरूर बताना आपके सभी प्रश्नों के उत्तर देने का जल्द से जल्द प्रयास करूंगा

Post a Comment

0 Comments